Chup Rehna Shayari | Quite Shayari |Silent Shayari In Hindi

Zubaan ki jhagdaat se thak gaye hum, Ab chup rehkar bhi dard bhare geet gungunaate hain. Chup Rehna Shayari | Quite Shayari | In Hindi

Chup Rehna Shayari

Chup Rehna Shayari | quite shayari | shaant shayari | khamoosh shayari |

Chup rehna seekh gaye hum zindagi ki raahon mein,

Khamoshi mein bhi kuch keh jaata hai yeh dastaan.

चुप रहना सीख गए हम ज़िंदगी की राहों में,

ख़ामोशी में भी कुछ कह जाता है यह दास्तान।


Zubaan ki jhagdaat se thak gaye hum,

Ab chup rehkar bhi dard bhare geet gungunaate hain.

जुबान की झगड़ात से थक गए हम,

अब चुप रहकर भी दर्द भरे गीत गुनगुनाते हैं।


Kabhi chup rehna bhi zaroori ho jata hai,

Warna kuch rishte aahista se bikhar jaate hain.

कभी चुप रहना भी जरूरी हो जाता है,

वरना कुछ रिश्ते आहिस्ता से बिखर जाते हैं।


Quite Shayari in hindi

Khamoshi mein chupi hai ek anmol kahaani,

Jahan shabdon ki jagah, ehsaas bol jaate hain.

ख़ामोशी में छुपी है एक अनमोल कहानी,

जहाँ शब्दों की जगह, एहसास बोल जाते हैं.


Chup rehna sikh lete hai hum jab dard ko samajh,

Khud se hi pooch lete hain sawaalon ki jawaab.

जब हम दर्द को समझने में चुप रहना सीख लेते हैं,

तब हम सवालों के जवाब खुद से ही पूछ लेते हैं।


Ankho ki chamak chura leti hai khamoshi,

Chup rehkar bhi dil ki baat sabse keh jaati hai.

आंखों की चमक कायम रखती है कीमती खामोशी,

चुप रहकर भी दिल की बात सबसे कह जाती है।


Silent Shayari In Hindi

Chup rehna hai kala,

jo sirf kuch kismat walon ko aati hai,

Woh samajh jaate hain,

jo dil ki sada ko sunte hain.

चुप रहना है कला,

जो सिर्फ कुछ किस्मत वालों को आती है,

वह समझ जाते हैं,

जो दिल की सदा को सुनते हैं।


Aksar chup rehna hi sabse badi taqat hoti hai,

Jahan lafzon ki kami,

wahaan ehsaas bol jaate hain.

अक्सर चुप रहना ही सबसे बड़ी ताकत होती है,

जहाँ लफ़्ज़ों की कमी,

वहाँ एहसास बोल जाते हैं.


Chup rehna seekh gaye hum musibaton mein,

Ab har aahat se pehle,

soch samajh kar chalte hain.

चुप रहना सीख गए हम मुसीबतों में,

अब हर आहट से पहले,

सोच समझ कर चलते हैं।


khamooshi shayari in hindi

Khamoshi mein chhupa hai ek gehra raaz,

Jahan shabdon ki jagah,

dil ki awaaz hoti hai.


ख़ामोशी में छुपा है एक गहरा राज़,

जहाँ शब्दों की जगह,

दिल की आवाज़ होती है।


Chup rehkar bhi dil kahta hai kuch,

Samajhne wale toh samajh hi jaate hain.

चुप रहकर भी दिल कहता है कुछ,

समझने वाले तो समझ ही जाते हैं।


Kuch rishte chup rehne ki gehrai hoti hai,

Jahan ankhon se bhi zyada dil ki baat samajh jaate hain.

कुछ रिश्ते चुप रहने की गहराई होती है,

जहां आँखों से भी ज़्यादा दिल की बात समझ जाते हैं।


और ज्यादा हॉट एंड सेक्सी फुल चुदाई की शायरी पड़ने यंहा देखो

Khamoshi ek aaina hai,

jisme dil ki sada dikhti hai,

Chup rehna sikho,

jeevan ki gehraiyon ko samajh jaate ho.

खामोशी एक आईना है,

जिसमें दिल की सदा दिखती है,

चुप रहना सीखो,

जीवन की गहराइयों को समझ जाते हो।


Chup rehna seekh lo kabhi-kabhi,

Zabaan se zyada sachai aankhon mein hoti hai.


Khamoshi mein dhal gayi zindagi ki kahani,

Chup rehkar bhi dard bhari yaadein ban jaati hain.


Chup rehna sikha hai duniya ke jhagdon se, Khamoshi mein hi kuch rishte sachche ho jaate hain.


Zubaan par har baat nahi aati,

Chup rehna bhi ek kala hai,

jo kam log jaante hain.

जुबान पर हर बात नहीं आती,

चुप रहना भी एक कला है,

जो कम लोग जानते हैं।


Chup rehna seekh lo kabhi-kabhi,

Kuch baatein toh sirf dil se samajh paate hain.

कभी-कभी चुप रहना सीख लो,

कुछ बातें तो सिर्फ़ दिल से समझ पाते हैं।


Khamoshi mein chhupa hai anmol moti,

Jo sirf samajhne wale hi khoj paate hain.

खमोशी में छुपा है अनमोल मोती,

जो सिर्फ समझने वाले ही खोज पाते हैं।


Chup rehna hai ek khubi,

jo sirf kuch kismat walon ko milti hai,

Woh samajh jaate hain,

jo khamoshi mein dard ki sada sunte hain.

चुप रहना है एक खूबी,

जो सिर्फ कुछ किस्मत वालों को मिलती है।

वे समझ जाते हैं,

जो खामोशी में दर्द की सदा सुनते हैं।

Leave a Comment

https://tsyndicate.com/do2/2c99818b09214d929370122a8daea7a5/vast?extid={extid}